धर्म, भूमंडलीकरण एवं जनस्वास्थ्य: सेनापुर गावं का अध्ययन

  • Sapna Maurya
Keywords: धर्म, भूमंडलीकरण, स्वास्थ्य, सामाजिक विकास, परिवर्तन

Abstract

एक संस्था के रूप में धर्मं की प्रमुख भूमिका हैं। धर्मं अपने अनुयायियों को विश्वास, कार्यपद्धति और आपदा के समय धीरज प्रदान करता है। दुर्खिम के अनुसार जिन वस्तुओं को पवित्र माना जाता हैं धर्मं उनसे सम्बन्धित विश्वासों और व्यवहारों की एकीकृत प्रणाली है। धर्म के द्वारा समान विश्वासों और व्यवहारों के अनुयायी एक नैतिक समुदाय में एकबद्ध होते हैं, जिस प्रकार विकास एवं सामाजिक परिवर्तन समाज में निरंतर चलने वाली प्रक्रियाएं है। प्रस्तुत शोध पत्र इसी दिशा में एक प्रयास है। इसके अंतर्गत भूमंडलीकरण प्रक्रिया का जनस्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभावों को विश्लेषित करने का प्रयास किया गया हैं। भूमंडलीकरण व धर्मं का प्रभाव स्वास्थ्य पर भी देखा गया हैं। प्रस्तुत शोध पत्र जौनपुर के केराकत तहसील के गावं सेनापुर में गहन क्षेत्रीय कार्य पर आधारित हैं। इस शोध पत्र के उद्देश्यों को दृष्टिगत रखते हुए इसमें अन्वेषणात्मक और वर्णात्मक शोध अभिकल्प का प्रयोग किया गया है और प्रतिमानित समाजशास्त्रीय प्रविधियों का जैसे- उद्देश्यपूर्ण निदर्शन, दैव निदर्शन, तथ्य संकलन, अवलोकन, वैयक्तिक अध्ययन तथा साक्षात्कार अनुसूची का प्रयोग किया गया हैं। इस शोध पत्र के द्वारा यह निष्कर्ष निकलता है कि लोग सम्पूर्ण परिवर्तन नही चाहते अर्थात संरचना में बदलाव नही चाहते किन्तु लचीलापन आ गया है। धर्म और भूमण्डलीकरण दोनों का समन्वय देखने को मिलता है, जैसे बच्चे को बुख़ार आ जाने पर पैरासिटामाल तो दी जाती है परन्तु नज़र भी उतारी जाती है एवं कुछ माताएं बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए व्रत भी करती हैं। अतः इसे हम भूमण्डलीकरण के कारण जनस्वास्थ्य जागरूकता कह सकते हैं।

References

कपिला, अंजलि. 2004, ट्रेडिशनल हेल्थ प्रक्टिसेस ऑफ़ कुमाउनी वुमेन: कंटीन्यूटी एन्ड चेंज, नई दिल्ली: कांसेप्ट पब्लिशिंग कंपनी।
धनागरे, डी. एन. 2003, 'ग्लोबलाइजेशन: टुवर्ड्स एन अल्टरनेटिव व्हिव ", सोशियोलॉजिकल बुलेटिन, खंड, 52, अंक. 1
लेवी, एल.(सं.). 1959, द ह्यूमेन फैक्टर- एंड द अनहुमेन, द डायनामिक्स ऑफ़ ह्यूमेन एडजस्टमेंट, वेस्ट पोर्ट: ग्रीनवुड प्रेस पब्लिशर्स
मैरिअट, एम.(सं). 1954, वेस्टर्न मेडिसिन इन ए विलेज ऑफ नारदर्न इंडिया, हेल्थ, कल्चर एंड कम्युनिटी, न्यूयॉर्क: बी. डी. पॉल, रसेल सेज फाउंडेशन
रॉबर्टसन, रोनल्ड. 1992, ग्लोबलाइजेशन: सोशल थ्योरी एंड ग्लोबल कल्चर. लन्दन: सेज
श्रीनिवास, एम. एन. 1986, सोशल चेंज इन मॉडर्न इंडिया. हैदराबाद: ओरियंट लांगमैन प्राइवेट लिमिटेड
दुर्खीम, एमाइल. 1965, एलिमेंट्री फॉर्म्स ऑफ़ द रिलीजियस लाइफ, न्यूयॉर्क फ्री प्रेस
उत्तर प्रदेश, 2011. विलेज डायरेक्टरी ऑफ़ जौनपुर
Published
2018-12-27
Section
Articles